दोस्तों आज के तकनीकी दौर में हम सभी कोई न कोई स्मार्टफोन या अन्य गैजेट्स का इस्तेमाल करते हैं जिसमें से कुछ स्मार्टफोन बहुत ही सस्ते आते हैं और कुछ महंगे। कुछ लोगों को महंगे स्मार्टफोन रखने का शौक होता है पर उनका बजट उतना नहीं होता और उन्हें सस्ते स्मार्टफोन से काम चलाना पड़ता है। मार्किट में Refurbished किये हुए स्मार्टफोनों की वैल्यू लगभग 400% है। ऐसी स्थिति में मार्किट वैल्यू को देखकर और लोगों के शौक को पूरा करने के लिए अपनी लगन और मेहनत के बलबूते पर टेलीकॉम सेक्टर के क्षेत्र में “HyperXchange” कंपनी ने अपना कदम बढ़ाया है।

जी हां दोस्तों हम बात कर रहे हैं सत्निक रॉय Satyenik Roy, दीपांजन पुरकायस्थ Deepanjan Purkayastha, आशीष चक्रवर्ती Ashish Chakraborty और द्विजो चटर्जी Dwijo Chatterjee की जिन्होंने “HyperXchange” कंपनी शुरू की। जिसमे refurbished mobiles और other electronics devices मार्केट प्राइस से बहुत कम कीमतों मे सभी को उपलब्ध कराते है। आई फोन जैसे महंगे स्मार्टफोन भी बहुत ही कम बजट मे लोगो की पहुँच मे आ गए है।

तो चलिए जानते हैं कि किस तरह से इन चारों दोस्तों ने अपनी “HyperXchange” कंपनी बनाकर लोगों के लिए Second-Hand Phone, महंगे स्मार्टफोन, refurbished mobiles को सस्ते बजट में पेश किया है और उनकी कंपनी का कितना टर्नओवर है।

HyperXchange

HyperXchange कंपनी की शुरुआत।

Satyenik Roy, Deepanjan Purkayastha, Ashish Chakraborty और Dwijo Chatterjee इन चारों दोस्तों ने मिलकर सन 2016 में कोलकाता मे “HyperXchange” के नाम से अपनी कंपनी का Startup शुरू करके Online Business शुरू किया।

मुश्किलों और कठिनाइयों का सामना।

“HyperXchange” कंपनी की शुरूआत करने के बाद इन चारों दोस्तों को रिटेल मार्केट में अपना काम जमाने में बहुत ही मुश्किलों और कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। इस बिजनेस की सबसे बड़ी चुनौती यह थी कि ग्राहकों को अपने गैजेट्स के बारे में विश्वास दिलाना। कंपनी लॉट मे बड़ी मोबाइल निर्माता कंपनी से second hand phone, used फोन, वारंटी मे लोटाये phones व अन्य तरीको से जो फोन मोबाइल निर्माता कंपनी के पास आ जाते है उन्हे HyperXchange कंपनी के द्वारा खरीद लिया जाता है। कंपनी इन सभी फोन को सही, रिपेयर करके बेचने के लिए तैयार किया जाता है। कंपनी के द्वारा मोबाइल को बेचने के साथ ही वारंटी व refurbished certified भी दिया जाता है ताकि कस्टमर का भरोसा कंपनी पर बना सके।
इस विश्वास को कायम रखने के बाद दूसरी समस्या खरीदार के अनुभव की सुविधा को बेहतर बनाना हैं क्योंकि अक्सर ग्राहकों को ओपन मार्किट में खरीदारी करने में बहुत ही दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है।

HyperXchange

“O 2 O” प्लेटफॉर्म के मॉडल पर किया काम।

HyperXchange” कंपनी को इन सभी मुश्किलों और कठिनाइयों का निपटारा करने के लिए Online to Offline यानि कि O2O प्लेटफॉर्म के मॉडल को चुनकर उसी के आधार पर काम करना शुरू कर दिया। HyperXchange कंपनी के द्वारा रीफर्बिश्ड स्मार्टफोनों को वारंटी और इंश्योरेंस के साथ आसानी के साथ खरीदा जा सकता है। तेजी के साथ टेलिकॉम सेक्टर मे बढ़ती प्रतिस्पर्धा की वजह से इंटरनेट डाटा भी काफी सस्ता होता जा रहा है जिसकी वजह से हर व्यकित पर तेजी के साथ स्मार्टफोन की खपत भी बढ़ती जा रही है। HyperXchange कंपनी अधिकांश प्रीमियम फोन्स ही सेल करती है परंतु स्मार्टफोन से शुरू हुए बिजनेस मे आज कंपनी टीवी, अलग अलग कंपनी के फोन्स, लैपटाप, स्पीकर, पावर बैंक व अन्य गैजेट्स भी शामिल करती जा रही है।

Read More : Online Logo बनाने की कंपनी, दो भाइयो का Startup, 100 से अधिक देशों में व्यापार।

भविष्य के लिए कंपनी की योजना

HyperXchange कंपनी अपने रीफर्बिश्ड स्मार्टफोनों को प्रीमियम कैटगरी के साथ डील करता है। कंपनी अधिकांश आईफोन्स के अलग अलग मॉडल के फोन्स को ही सेल करती है। इन चारों दोस्तों ने अपनी कंपनी की भविष्य की प्लानिंग के बारे में बताते हुए कहा कि वे जल्द ही अपनी कंपनी में स्मार्टफोन के अलावा धीरे-धीरे विस्तार करते हुए लैपटॉप, टैब और अन्य गैजेट को भी शामिल कर रहे है। कंपनी ने अपनी वेबसाइट के अलावा अमेज़न और ईबे जैसे ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अपने प्रॉडक्ट लिस्ट करके सेल करती है। इसके अलावा HyperXchange जहां बड़े शहरों में ऑनलाइन मॉडल पर काम कर रही है, उसी प्रकार कंपनी गांव में अपना कदम बढ़ाने के लिए ऑफलाइन रिटेल के मॉडल पर काम कर रही हैं।

HyperXchange

प्रति मिनट में 15 गैजेट्स बेचने का प्लान।

HyperXchange ने अपने शुरूआती दौर में 15 गैजेट्स प्रति महीने के लक्ष्य के साथ बेचा, आज कंपनी प्रति घंटे 15 गैजेट्स बेच रही है, लेकिन कंपनी ने आने वाले कुछ वर्षो मे प्रति मिनट 15 गैजेट्स बेचने का लक्ष्य निर्धारित कर रखा है। HyperXchange ऑफलाइन मार्किट में अपनी पैठ जमाने के लिए पूरे देश मे अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स को बढ़ावा दे रही है व नए डिस्ट्रीब्यूटर्स जोड़ रही है। जिसकी वजह से ही वह आने वाले वर्षो मे अच्छी ग्रोथ हासिल कर पाएंगे।

कंपनी का टर्नओवर।

हाल ही में हायपरएक्सचेंज रीफर्बिश्ड बिजनेस की मदद से कंपनी ने मात्र 2 सालो के अंदर ही अपनी आमदनी 30 करोड़ रुपये सालाना से भी अधिक कर ली है। हायपरएक्सचेंज कंपनी ने अपनी ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही मार्किट में से 50%-50% की आमदनी कर रही है। कंपनी अपना फोकस ऑफलाइन मार्केट मे बढ़ाने के लिए पूरी कोशिस कर रही है और जल्द ही कंपनी अपने ऑफलाइन मार्किट से अपना 50% रेवेन्यू से बढ़ाकर 70% तक प्राप्त कर लेगी। कंपनी ऑनलाइन मार्किट Online Market के अलावा ऑफलाइन मार्किट के माध्यम से छोटे-छोटे शहरों और गांव में अपना रिटेल का जरिया बना रही है।

HyperXchange

Read More : मोबाइल रिपेयरिंग स्टॉल से शुरू कर बनाई 150 करोड़ का टर्नओवर करने वाली कंपनी।

दोस्तों आज HyperXchange कंपनी के संस्थापकों ने अपनी मेहनत के माध्यम से भारत के हर शख्स को अपने बजट और मनपसंद के मुताबिक महंगे स्मार्टफोनों को सस्ते में खरीदने का मौका दिया है। आज के दौर मे हर व्यकित महंगे स्मार्ट फोन खरीदना तो चाहता है परंतु महंगाई के दौर मे उनकी जेब उन्हे खरीदने से रोक लेती है परंतु डिजिटल क्रांति की वजह से आज यह संभव होने लगा है की हर व्यकित महंगे स्मार्टफोन अपनी बजट के मुताबिक खरीद सके। refurbished mobiles अब हर वर्ग के लोगो की पहुँच मे आसानी से आने लगा है।

यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें Startuphindi3@gmail.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप अपने गाँव, शहर या इलाके की प्रेरणात्मक वीडियो हमें 6397028929 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here