किसी ने बिल्कुल सही कहा है की पहनावा चाहे वह कपड़ों का हो या फुटवियर का इंसान में एक अलग ही आत्मविश्वास का लेवल बढ़ा देता है और खासकर तब उसकी पसंद, स्टाइल और कंफर्ट के मुताबिक हो। स्टाइलिश फुटवियर का चलन आज से नहीं कई सदियों पुराना है परंतु पहले और आज के फुटवियर में केवल फर्क इतना है कि पहले फुटवियर स्टाइलिश तो होती थी परंतु कंफर्टेबल नहीं इन दोनों के बीच सामंजस बैठाना इतना आसान काम नहीं था इस कठिन काम को पूरा किया भाई बहन की जोड़ी ने जिन्होंने अपने दादा के shoe business को आगे बढ़ाते हुए आज करोड़ों का टर्नओवर वाली Company Inc.5 में बदल दिया है। Success story.

हम बात कर रहे हैं अलमास नंदा और अमीन विरजी की जिन्होंने अपने दादा के जूते के बिजनेस से शुरू करके आज अपनी कंपनी “Inc.5” के टर्नओवर को 163 करोड़ के पार पहुंचा दिया है। success story of Inc.5 company.

तो चलिए बात करते हैं कि कैसे अलमास और अमीन ने अपने दादा के shoe business से शुरू करते हुए आज अपनी खुद की एक बहुत बड़े टर्नओवर वाली Company Inc.5 कैसे बनाई और उनको इन सबको करने में किन परेशानियों व दिक्कतों का सामना करना पड़ा। Inc.5 company success story.

shoe making company Inc.5 success story

कैसे हुई शुरुआत।

सन 1998 में अलमास नंदा ने 24 वर्ष की उम्र में अपने भाई के साथ मिलकर Inc.5 कंपनी की नींव रखी और महिलाओं के लिए तरह-तरह के स्टाइलिश फुटवियर को लांच किया। अलमास नंदा के भाई और कंपनी डायरेक्टर अमीन विरजी ने अपने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया की कि हमने मुंबई के मशहूर शॉपिंग सेंटर हीरा पन्ना में एक छोटे से स्टोर से अपने व्यापार को शुरू किया था और आज के समय में हमने इसे बढ़ाकर पूरे देश में 54 एक्सक्लूसिव स्टोर तक पहुंचाया है और साथ ही 300 सेल्स काउंटर भी शुरू किए है।

अमीन विरजी के मुताबिक सन 1954 में उनके दादा ने “रीगल शूज” के नाम से अपने बिजनेस की शुरुआत की थी। उस समय इस बिजनेस में केवल बेसिक और फॉर्मल शूज ही बनाए जाते थे और उस समय फैशन का भी इतना ट्रेंड नहीं था। सन 1998 से हम फुटवियर मार्केट में उतरे और साथ ही आने वाले समय के फैशनेबल फुटवियर में भविष्य की संभावनाएं तलाशी हमने फुटवियर के स्टाइलिश होने के साथ ही कंफर्टेबल होने के बारे में भी काफी रिसर्च की और हम इसमें काफी हद तक सफल होते हुए आज एक ब्रांड के रूप मे मार्केट मे है।

shoe making company Inc.5 success story

रीगस शूज का Inc.5 में विलय होना।

सन 2001 में रीगल शूज को Inc.5 में विलय करके कंपनी Inc.5 Shoes Private Limited मार्किट में उभरकर सामने आई। Inc.5 में विलय होने से पूर्व रीगल शूज का हर कामकाज अमीन विरजी के पिता अब्दुल रसूल विरजी और उनके चाचा जलाल विरजी की देखरेख में होता था।

Read More : Online Logo बनाने की कंपनी, दो भाइयो का Startup, 100 से अधिक देशों में व्यापार।

Inc.5 का सालाना टर्नओवर 163 करोड़ से अधिक।

Inc.5 कंपनी ने मार्केट मे जल्द पकड़ बनाते हुए व अपने कस्टमर का ध्यान रखते हुए साल का टर्नओवर लगभग 163 करोड़ रुपये से अधिक का किया है। फिलहाल Inc.5 कंपनी ने कोलकाता, दिल्ली, बैंग्लूरू, अहमदाबाद, हैदराबाद, कानपुर, लखनऊ, और पुणे के साथ-साथ टियर I और टियर II शहर में अपनी एक मजबूत पकड़ बनाई है। वर्तमान समय में कंपनी ने अपने फुटवियर भारत के साथ साथ श्रीलंका में भी निर्यात करती है।

shoe making company Inc.5 success story

ऑनलाइन प्लेटफार्म पर भी उपलब्ध Inc.5 फुटवियर।

Inc.5 फुटवियर के कलेक्शन ऑनलाइन प्लेटफार्म जैसे Myntra, Jabong, Flipkart और Amazon जैसे E-Commerce वैबसाइट में भी लिस्टेड है परन्तु उनके बिज़नेस की अधिकांश बिक्री 95% ऑफलाइन स्टोर्स से ही होती है।

किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ा।

अमीन विरजी बताते हैं कि एक अच्छे फुटवियर को बनाने के लिए अच्छे मटेरियल की जरूरत पड़ती है परन्तु भारत देश में फुटवियर बनाने के लिए अच्छे कॉम्पोनेंट्स को ढूढ़ना बहुत ही मुश्किल था। उन्होंने बताया की वे अच्छे कॉम्पोनेंट्स को ढूढ़ने के लिए काफी रिसर्च की। भारत देश मे एक अच्छे स्टाइलिश कंफर्टेबल फुटवियर बनाने के लिए अच्छे मेटेरियल की उपलब्धता अभी काफी कम है। जिसकी वजह से ट्रेंडिंग फैशनेबल फुटवियर बनाना काफी मुश्किलों व चुनौती भरा था। बाद में उन्होंने फुटवियर के तलवों (soles), बकल्स (buckles) और हील्स जैसे कॉम्पोनेंट्स को इटली से आयात करने शुरू किए। आज इनकी कंपनी चीन, ताइवान और वियतनाम से काफी मटेरियल आयात करती है।

shoe making company Inc.5 success story

Read More : कॉलेज स्टूडेंट्स के रहने के लिए किया Startup, टर्नओवर 20 करोड़ के पार। Your-Space.

ऑनलाइन मार्किट की वजह से शॉपिंग आसान।

आज के दौर मे ऑनलाइन प्लेटफार्म की वजह से भी कंपनी को एक ऑनलाइन ब्रांड बनने मे काफी मदद मिली है। अमीन विरजी के मुताबिक आज के समय में ईकॉमर्स की वजह से ग्राहक ऑनलाइन के माध्यम से उत्पादों को खरीदना पसंद करते है और आने वाला समय भी ऑनलाइन का ही है इसलिए कंपनी ने अभी से सभी ऑनलाइन वैबसाइट पर अपने प्रोडक्टस की लिस्टिंग की हुई है। ऑनलाइन प्लेटफार्म के द्वारा शॉपिंग बहुत ही आसान होती है। आज के समय मे ईकॉमर्स से हर कंपनी करोड़ो का बिजनेस कर रही है

shoe making company Inc.5 success story

भविष्य की होने वाली संभावनाएं।

कंपनी के भविष्य में होने वाली संभावनाओं के बारे में अमीन बताते हैं कि वे आने वाले कुछ ही वर्षों में एक्सक्लूसिव स्टोर और बिक्री केंद्र को दुगुना करने वाले है। इसके अलावा वे श्रीलंका में होने वाली बिक्री प्रतिशत को भी बढ़ाने की योजना बना रहे हैं। साथ ही वे निर्यात के विस्तार पर भी ध्यान देंगे। अभी उनके पास फुटवियर के अलावा Inc.5 हैंडबैग के लिए विशेष योजना है।

Read More : दो दोस्तो ने खड़ी की दूध डिलीवरी कंपनी, टर्नओवर करोड़ो मे। Doodhwala.com

Inc.5 company success story. दोस्तों सोच छोटी करने से कुछ नहीं होता है सोच को हमेशा बड़ा रखना चाहिए, क्योकि सोच के बड़े होने से ही इंसान बड़ा होता है। शू बिजनेस की इंडिया मे अरबों की इंडस्ट्री है। अल्मास नंदा और अमीन विरजी ने जूते की कंपनी को शुरू करके और उसमे अपने पुश्तैनी बिज़नेस को मर्ज करके साल का 163 करोड़ रूपये से अधिक का टर्नओवर कर दिया है और यह बता दिया कि कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें Startuphindi3@gmail.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप अपने गाँव, शहर या इलाके की प्रेरणात्मक वीडियो हमें 6397028929 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here