दोस्तों चाय एक ऐसा पेय ड्रिंक है जिसे भारत में रहने वाले लोग सबसे अधिक पीते हैं। सर्दी हो चाहे गर्मी चाय के बिना तो बरसातों का मौसम भी अच्छा नहीं लगता। परन्तु भारत में ही रहने वाले एक शक्स ने एक मामूली सी दिखने वाली चाय को ही एक ब्रांड बना दिया और नाम दिया “चाय ठेला” “Chai Thela”. “Success Story of Chai Thela”

जी हां, हम बात कर रहे हैं चायठेला के को-ओनर पंकज जज Punkaj Judge के बारे में जिन्होंने अपने जीवन में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखने के बाद अपना चायठेलाChai Thela का स्टार्टअप Startup शुरू करके एक ऊंचा मुकाम हासिल करने में कामयाब हुए है।

तो चलिये बात करते हैं पंकज जज Punkaj Judge के बारे में जिन्होंने अपनी शादी से पहले किए Startup को किन हालातो मे किया बंद और फिर दुबारा अपनी पत्नी के सपोर्ट मिलने के साथ ही शादी के 3 महीने बाद अपना नया Startup चायठेला Chai Thela का बिज़नेस स्टार्ट किया। आइये जानते है Chai Thela” Startup की success story के बारे मे।

tea business startup Chai thela success story

पुराने वेंचर की परेशानी और नए startup का जोश कैसे।

Chai Thela के को-ओनर पंकज जज के मुताबिक उनकी शादी के 1 महीने पहले उनके पुराने वेंचर बंद होने की कगार पर आने लगा था। उनके पार्टनर और को-फाउंडर नितिन चौधरी (Nitin Choudhary) ने भी अपने कदम पीछे कर लिए और अन्य पुराने वेंचर से अलग हो गये। चूंकि पंकज को शुरू से ही बिजनेस करना था वह नौकरी करना बिलकुल भी पसंद नहीं करते थे। उनके लिए यह समय बहुत ही मुश्किल भरा था परंतु उन्होने हिम्मत करते हुए अपनी होने वाली पत्नी श्वेता के साथ बैठकर अपने Startup की सभी परेशानियों को शेयर किया। उनकी होने वाली पत्नी श्वेता को उनके स्टार्टअप बन्द होने के बारे मे पता चलने पर भी उन्हें अपनी ओर से पूरा-पूरा सपोर्ट किया।

tea business startup Chai thela success story

किस तरह से आया चाय बेचने का आइडिया।

उन्होने फिर से अपना बिज़नस करने के बारे मे सोचा। उन्होंने जल्द ही अपने अगले बिज़नेस के बारे में सोच-विचारकर अपने को-फाउंडर नितिन चौधरी (Nitin Choudhary) के साथ मिले। नितिन चौधरी जो अपनी होटल मेनेजमेंट की जॉब से भी पूरी तरह ऊब चुके थे, दोनों ने आगे के Startup को सोचते हुए घर से बाहर एक चाय के ठेले पर आए, वहाँ की गंदगी और गंदे कप मे चाय को देखकर उनके दिमाग मे तुरंत Business Idea आया क्यों ना चाय का Startup शुरू किया जाय क्योकि चाय आज हर इंसान की जरूरत ही हो गई है। चाय को साफ सफाई के साथ प्रेजेंट किया जाये और अलग अलग टेस्ट की चाय हो तो क्या कहने।

Read More : मामूली से निवेश से किया स्टार्टअप आज कर रहे करोड़ो की कमाई | PortraitFlip

दोनों पार्टनरों ने मिलकर अपना चाय का बिज़नेस स्टार्ट करने के बारे में प्लान बनाया। उन्होंने पहले के स्टार्टअप की शुरू की कमियों को ध्यान मे रखते हुए अपने प्लान बी बनाकर उस पर अमल किया और पंकज की शादी के 2 महीने बाद ही चाय का बिज़नस शुरू कर दिया।

tea business startup Chai thela success story

Chai Thela की जरूरत क्यों।

चाय हमारे देश का एक तरह से नेशनल ड्रिंक है, जिसे लोग पानी के बाद सबसे अधिक पीते हैं। भारत में अधिकतर लोग कॉफी की जगह आठ गुना अधिक चाय पीना पसंद करते हैं। जहां स्टारबक्स, कैफे कॉफी डे, और बरिस्ता जैसे कॉफी बिज़नेस के बड़े ब्रांड पहले से ही थे, जिस वजह से उन्होंने Tea Business में बहुत ही कम ब्रांड होने की वजह से उन्होंने चाय के बिज़नेस में अपना कदम बढ़ाया। उन्होंने अपना चाय का स्टोर “Chai Thela” के नाम से शुरूआत किया जो बहुत जल्द लोगों के बीच में एक महशूर ब्रांड बन गया।

Read More : दो इंजीनियर दोस्तों ने नौकरी छोड़ शुरू किया Chai Calling, Business और आज टर्नओवर करोड़ों में।

नोएडा, गुरुग्राम, दिल्ली और मुंबई मे उन्होने 10 से अधिक आउटलेट शुरू किए हुए है। उन्होने लोगों की मांगों को ध्यान में रखते हुए उन्हे फ्रेश बनी हुई चाय पीने के लिए सर्व किया। चाय ठेला के को-फाउंडर Nitin Choudhary का कहना है कि वे लोगों को एकदम फ्रेश बनी हुई चाय सर्व करते हैं। वे अपने बिज़नेस में चाय को स्टोर करके नहीं रखते हैं।

tea business startup Chai thela success story

चाय ठेला कियोस्क।

उन्होंने अपना चाय का बिज़नेस मॉडल को कियोस्क मॉडल के आधार पर बनाया। उन्होने अपने चाय ठेला के कियोस्क को ज़्यादातर मॉल, आईटी पार्क, शॉपिंग सेंटर, कॉलेज, हॉस्पिटल, एयर पोर्ट एरिया के आसपास ही लगाये है। उनके 10 से अधिक आउटलेट पर 80 से अधिक टीम मेम्बर काम करते है। वह हर रोज करीब 1000 से 1500 कप चाय के बेचते है। वह जल्द ही अपने आउटलेट की संख्या को बढ़ाने मे कार्य कर रहे है।

शुरू करने में किन-किन परेशानियों से सामना करना पड़ा।

पंकज के मुताबिक जब कोई छोटा बिज़नस हो या बड़ा बिज़नेस जब भी शुरूआत की जाती है तो उसमें सबसे अधिक कैपिटल को लेकर परेशानी का सामना करना पड़ता है। यही परेशानी चाय ठेला को भी झेलनी पड़ी। बिज़नस कैपिटल के लिय उन्होने अपने सेविंग्स भी लगा दिये परंतु बात नहीं बनी उन्हे और कैपिटल की जरूरत थी जिसके लिए उनको Nitin के भाई से सपोर्ट मिला और साथ ही पंकज के एक करीबी दोस्त ने भी उनकी काफी मदद की।

Read More : असफलता से सीख कर, बनायी अरबों की ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी कंपनी-Swiggy.

पंकज ने यह भी बताया कि उनके द्वारा स्टार्टअप किये गए चाय ठेला के बिज़नेस का प्रभाव उनकी नई-नई शादी पर भी हुआ जिस वजह से वे अपना शुरूआत का समय अपनी पत्नी स्वेता को भी नहीं दे पा रहे थे।

tea business startup Chai thela success story

भारत मे चाय की मार्केट वैल्यू करोड़ो मे।

एक सर्वे के मुताबिक चाय की मार्किट वैल्यू अभी हाल ही के समय में लगभग 33,000 करोड़ रुपए से भी अधिक है जो कि 15% की दर से हर वर्ष बढ़ती जा रही है। रिटेल चाय का आउटलेट हमारे देश में 90% से भी अधिक असंगठित रूप से चलाये जाते हैं। इन्हे संगठित करके ब्रांड बनाने के लिए कई बड़ी कंपनी भी इसमे शामिल होने लगी है। अभी कुछ वर्षों के अंदर ही चाय के ज़्यादातर आउटलेट व्यस्तम कार्य के क्षेत्र में खुलने लगे हैं।

Read More : इंजीनियरिंग के बाद शुरू किया Shoe Laundry का अनोखा बिज़नेस, टर्नओवर करोड़ों मे।

दोस्तों भारत मे पानी के बाद सबसे अधिक पेय पदार्थ चाय ही है जिसे भारतीय लोग पीना बहुत पसंद करते हैं। चाय पीने के लिए भी अब लोगो मे जागरूकता आने लगी है वह गंदे टी स्टाल पर ना जाकर अब “चाय ठेला” जेसे कियॉस्क मे जाना ज्यादा पसंद करने लगे है। जिससे कियॉस्क मालिको के लिए ये काफी फायदे का बिज़नस बनने लगा है। आपको Chai Thela की Success Story कैसी लगी हमे कमेंट कर के जरूर बताए। धन्यवाद।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें Startuphindi3@gmail.com पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप अपने गाँव, शहर या इलाके की प्रेरणात्मक वीडियो हमें 6397028929 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here