दोस्तों आज हम आप के साथ एक ऐसी कम्पनी के बारे में बात करने जा रहे हैं जो बिना किसी बड़े निवेश के शुरुआत हुई है और आज करोड़ों की कमाई कर रही है। हम बात कर रहे हैं Portrait Flip कम्पनी की जो तीन दोस्तों शुभांशु माहेश्वरी, लवदीप चहल और सनी चौधरी के द्वारा स्टार्ट की गई है।

मामूली से निवेश से किया स्टार्टअप आज कर रहे करोड़ो की कमाई | Portrait Flip

success story of Portrait Flip   Portrait Flip कंपनी की शुरुवात 3 दोस्तो ने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दौरान शुरू की थी। जिनमे सुभांशु ने अपनी पढ़ाई इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से की हुई है जबकि लवदीप और सनी ने अपनी पढ़ाई मैकेनिकल इंजीनियरिंग से की हुई है और ये सभी वीआईटी विश्वविद्यालय (VIT University) के पूर्व छात्र रह चुके थे।

Portrait Flip

Portrait Flip के फाउंडर कौन कौन हैं ?

Portrait Flip के तीन फाउंडर हैं जिनका नाम शुभांशु माहेश्वरी जो मुंबई के रहने वाले हैं, लवदीप चहल जो मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं और अंत में सनी चौधरी जो मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सुभांशु कम्पनी के CEO हैं जबकि लवदीप और सनी कम्पनी के CTO व COO हैं।

कहां से मिला आइडिया?

लवदीप के मुताबिक जब वे चार वर्ष पहले अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे, उस वक्त उनके एक मित्र ने उपहार के तौर पर उनसे हैंडमेड पोर्ट्रेट की मांग की, उस वक्त उन्होंने अपने मित्र को देने के लिए हैंडमेड पोर्ट्रेट को मार्किट और कई बड़े-बड़े मॉल में देखा लेकिन उन्हें कहीं नहीं मिला और वे अपने मित्र की उस मांग की वजह से काफी परेशान हो गए क्योंकि वे अपने मित्र की मांग को पूरा नहीं कर पा रहे थे। उस वक्त उन्होंने इस समस्या को महसूस किया और उन्होंने इस समस्या को एक चैलेंज के तौर पर लेते हुए हैंडमेड पोर्ट्रेट से जुड़ी सभी तरह की चीजों की जानकारी जुटानी शुरू कर दी परन्तु समस्या वैसे ही बनी रही और यहीं से उनके मन में स्टार्टअप करने का विचार आया।

पढ़ाई के साथ स्टार्टअप की तैयारी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब लवदीप पोर्ट्रेट के बारे में जानकारी जुटा रहे थे, उस वक्त वे अपनी इंजीनियरिंग के फाइनल सेमेस्टर की पढ़ाई भी कर रहे थे। उसके बाद उन्होंने हैंडमेड पोर्ट्रेट और उसे बनाने वाले आर्टिस्टों के बारे में में जानकारी जुटानी शुरू कर दी। उन्हें यह जानकर हैरानी हुई कि कई बड़े-बड़े आर्टिस्ट अपनी पेंटिंग्स को लाखो-करोड़ों रूपये में बेच रहे हैं।

Portrait Flip

अपने बिज़नेस आइडिया को दोस्तों के साथ किया शेयर

तब लवदीप ने इस संबंध में सनी के साथ बातचीत करी और इस समस्या को बिजनेस का रूप देने का विचार किया। सनी ने बताया कि ऐसा कोई काम नहीं है जो असम्भव हो और उसे पूरा न किया जा सके। सनी, लवदीप रूममेट तब से थे जब वह दोनों इंजीनियरिंग की चौथे सेमेस्टर की पढ़ाई कर रहे थे, साथ ही दोनों अच्छे मित्र भी थे और इसी वजह से वे अपने सभी तरह के बिज़नेस आइडिया एक-दूसरे के साथ मिलकर शेयर करते थे। तब दोनों दोस्तों ने अपने आइडिये को हकीकत में बदलने के लिए अपने एक अन्य दोस्त सुभांशु की मदद ली जिन्होंने अपने कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही चार-चार छोटे बड़े स्टार्टअप किये हुए थे।

Read More : दो भाइयों ने कम उम्र में शुरू किया मीडिया डॉट नेट स्टार्टअप, आज है 6 हजार करोड़ के बिजनेसमैन।

वेबसाइट के माध्यम से बिज़नेस किया शुरू

उन्होंने अपनी Portrait Flip कम्पनी की शुरुआत अपने कॉलेज की पढ़ाई के दौरान 1 अगस्त से एक वेबसाइट के माध्यम से की थी। वेबसाइट के माध्यम से यह अपने ग्राहकों को हेंडमेड पेंसिल पोर्ट्रेट, चारकोल पोर्ट्रेट, आयल पेंटिंग, वाटर पेंटिंग आदि कई प्रकार के पेंटिंग्स/पोर्ट्रेट ऑनलाइन सेल करते है। सनी के मुताबिक उनकी कम्पनी ने मात्र एक साल के अंदर लगभग 200 से अधिक ऑर्डर बखूबी पुरे किये हैं। success story of Portrait Flip.

Portrait Flip

विदेशों में भी हैं अधिकांश क्लाइंट्स

Portrait Flip कम्पनी के क्लाइंट भारत के अलावा विदेशों में भी हैं जिसमे 70% USA के, 15% UK, ऑस्ट्रेलिया और कनाड़ा के क्लाइंट्स शामिल हैं। भारत मे अभी इनके क्लाइंट की संख्या कम है परंतु वह यहा भी प्रयासरत है।

किन-किन समस्याओं का सामना करना पड़ा?

सुभांशु के मुताबिक जब वे अपने कॉलेज की पढ़ाई कर रहे थे, उस वक्त उन्हें अपने माता-पिता से पॉकेट मनी के तौर पर लगभग 3-4 हजार रूपये ही मिलते थे और उन्हीं रुपयों को उन्होंने अपनी कम्पनी के स्टार्टअप में निवेश किया था। शुरुवाती दिनो मे कम्पनी के स्टार्टअप में कई तरह की समस्या का सामना करना पड़ा है जिसमे उन्हें अधिकतर पूंजी की समस्या की कठिनाई महसूस होती थी कि पूंजी कहां से लाकर अपनी कम्पनी में निवेश करेंगे। सनी ने बताया कि उन्होंने पूंजी की व्यवस्था करने के लिए अपने साथ हॉस्टल में रहने वाले अन्य दोस्तों से चंदे के तौर पर भी रूपये की व्यवस्था की। एक बार उन्होंने अपने दोस्तों से ब्याज पर भी रूपये लिए और समय पर भुगतान भी किया।

Portrait flip

Portrait Flip कम्पनी के टीम मेम्बर ?

लवदीप के मुताबिक कम्पनी के तीन फाउंडरों के अलावा 2-3 लोग इंटर्न के तौर पर काम कर रहे हैं जिनमे ग्राफ़िक डिज़ाइनर, कंटेंट राइटर शामिल हैं और जल्द ही टीम को और बढ़ाने की तैयारी है। इसके अलवा भारत में लगभग 50-60 आर्टिस्ट और विदेशों में भी कुछ स्टूडियो उनके साथ जुडकर काम क़र रहे हैं।

Read More : एक छोटा सा आईडिया और 6 महीने में कमाए 60 लाख डॉलर।

कम्पनी की रेवेन्यू

लवदीप के मुताबिक Portrait Flip कम्पनी को लगभग एक साल हो चुका है जिसकी वजह से उनकी कम्पनी का एक साल मे कुल रेवेन्यू लगभग 10 लाख रूपये हो चुका है ।

success story of Portrait Flip दोस्तों कहते हैं कि कोई भी काम शुरू करने के लिए पैसे ही जरूरी नहीं हैं। यदि हमारे पास केवल आइडिया है लेकिन उस आइडिया को अमल करने के लिए पैसे नहीं हैं तब भी हम उस आइडिया को अमल कर सकते हैं, जैसे कि Portrait Flip कम्पनी के संस्थापक/फाउंडरों ने अपनी सूझबूझ से कर दिखाया है।


यदि आपको इस कहानी से प्रेरणा मिली है या आप अपने किसी अनुभव को हमारे साथ बांटना चाहते हो तो हमें [email protected] पर लिखे, या Facebook और Twitter पर संपर्क करे। आप अपने गाँव, शहर या इलाके की प्रेरणात्मक वीडियो हमें 6397028929 पर व्हाट्सएप कर सकते हैं!


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here